Google+ Followers

Google+ Followers

सोमवार, 23 नवंबर 2015

शुन्य का आदि ना अंत कोई

#
शुन्य तो शुन्य ही होता है
शुन्य का आदि ना अंत कोई
शुन्य का पूरब न पश्चिम कोई
शुन्य का उत्तर ना प्रश्न कोई

विलुप्त संस्क्रती की प्रहरी
संभावनाओ की शुन्यता
म्रत सम्वेदनाओं की देहरी
भाव शुन्य योग शुन्यता
शुन्य तो शुन्य ही होता है
शुन्य का आदि ना अंत कोई

मर्म के बिना धरम शुन्य
कर्म के बिना इंसान शुन्य
रिश्तो के बिना पहचान शुन्य
जीवन म्रत्यु श्मशान शुन्य
शुन्य तो शुन्य ही होता है
शुन्य का आदि ना अंत कोई

शुन्यता में प्रक्रति का उद्गम है
शुन्यांश में श्रष्टि का चिन्तन है
शुन्यांक ध्यान का है चरम बिंदु
शुन्य विज्ञानं का आत्म मंथन है
शुन्य तो शुन्य ही होता है
शुन्य का आदि ना अंत कोई

शुन्य ज्योति है रौशनी है
शुन्य ज्ञान की साधना है
शुन्य रसायन निशब्द है
शुन्य रस है उर्जा है ॐ है
शुन्य तो शुन्य ही होता है
शुन्य का आदि ना अंत कोई

#सारस्वत
06102013