Google+ Followers

Google+ Followers

गुरुवार, 8 मई 2014

शुभ_दिन_सुन्दर_हो














उम्मीदों का सवेरा हो     *    उमंगों का बसेरा हो 
खुशियों का आँगन हो    *    रश्मियों का आगमन हो
आस का दीपक हो        *    आशा प्रकाशक हो
सांसों का तर्पण हो        *    प्रेम का दर्पण हो 

साथ का एहसास हो      *    परस्पर विश्वाश हो        
जीवन परिवर्तन हो       *    सम्पूर्ण समर्पण हो   
मानव मन मन्दिर हो    *    शुभ दिन सुन्दर हो 
#सारस्वत
09052014